Skip to main content

Posts

. पापा का प्यार

दरवाजे पर नज़रे टिकाए रहते थे,
राह उनकी शाम होते ही देखते थे, सोचता हूं में अब ये सब, वो मेरे अजीब से इशारे कैसे समजते थे...।।
बचपन में पीठ पर बैठकर घूमे है, कांधे पर सिर रखकर गोदी में सोये हैं, मगते ही कभी कुछ नहीं दिया, अहमियत वक्त और चीजों की उन्होंने बताई है..।।
प्यार तो करते होंगे वो बहुत, पर आंखो से ही डरा देते है, हमने तो प्यार जताया ही नहीं, और गले लगाया तो सालो हो गए..।।

पर दूरियां क्यों इतनी बड़ी है पापासे, दुनिया में प्यार पापा का सबसे अलग हैं, वो जताते नहीं और बताते कभी नहीं, प्यार मां सा वो भी करते है...।।
बचपन में प्यार पापा का अच्छा लगता है, फिर वही प्यार फर्ज लगता हैं , नहीं समझ आएगा इस उम्र में हमें, शायद बेटे से बाप बनना पड़ेगा हमें...।।
                       -  अक्षय कदम
Recent posts

Manoj Muntashir Songs, poetry, shayri, Biography

Bollywood Film Lyricist Poetry Shayri Writter  Manoj Muntashir ( Manoj Shukla )

Manoj Muntashir biography
Born             26  February 1976                       Gauriganj, Amethi, UP           Age               44 Nationality   Indian Occupation  Lyricist, Poetry Writter

Best of Manoj Muntashir  He is from Gauriganj, Amethi, Utarpradesh. At the start of his cariar he wrote many reality shows Kon Banega Corodpati (  KBC ) India's Got Talent ( IGT ) etc.
When Teri Gallia Song was released from a villain, he got fame and that song has been composed by Ankit Tiwari.
He has written a book aslo named 'Meri Fitrat Hai Mastana' and this book showing very good response and this book is available on Amazon.
'Meri Fitrat Hai Mastana 2' is also on the to release or Publish Manoj sir says in YouTube Live Chat.
Manoj sir has written a song in Movie Kesari song titled 'Teri Mitti'. This song is currently favorite of the whole nation every one gets connected to this song.
M…

Beat of Gulzar Ji Poems, Nazams, poetry, Shayri

Famous Gazals, Nazams, Poetry, Shayri, Love Poetry of Gulzar Ji

गुलज़ार जी Gulzar Ji
Film maker, lyricist and  writer.  Awarded by Dada Sahab Phalke award.
गुलजार जी का पूरा नाम समपूरन सिंह कालरा है। हिन्दी फ़िल्म के जाने-माने गीतकार हैं। उनका जन्म      - 18 अगस्त 1936 में हुआ उनका उपनाम   - गुलज़ार है
गुलज़ार जी की कुछ प्रमुख फिल्मी रचनाएं-  Gulzar Ji songs lyrics -
कुछ प्रसिद्ध गज़ले Famous Gazals of Gulzar Koyi atka hua hai pal shayadZindagi yun hui basar tanhaPhul ne tahni se udne ki koshishs kiHawa ke sing na pakdo khaded detiBe sabab muskura raha hai chandDard halka hai sans bhaari haiWoo khat kee purze udaa raha thaaBite rishte talash karti hainPhulon ki tarah lab khol kabhiKanch ke pichhe chand bhi tha aur Dikhai dete hain dhund mein jaise saeSham see aaj sans bhari hainKoyi khamosh zakhm lagti hainSahma sahma dara sas rahta hainTujhko dekha hai joo dariya nee idharJab bhi aankhon mein ashk bhar Ek parwaz dikhai di haiKahin toh gard ude ya kahin ghubarHath chhuten bhi to rishte…

Mother's day special poem in Hindi, Hindi poem on maa

माँ
लिखु क्या मैं माँ के लिए,
कर दिया शुक्रिया अदा खुदा का.... नाज़ करता होगा भगवान भी खुदपर, देख कर रूप माँ का जमी पर.....।।
बताऊं कैसे प्यार माँ का,  पड़ जाए समंदर भी कम,  आकाश भी छोटा पड़ जाए ,,,,  कर लेती है कैसे वो प्यार इतना होटों पे रक के मुस्कान,  छुपा लेती हैं दर्द वो सारा,  कापती होगी लहरे भी समंदर की,  देख कर आंखो में आसू मा के !!! लिखु तो क्या लिखूं मैं माँ के लिए, कर दिया शुक्रिया अदा खुदा का..... करता होगा नाज़ भगवान भी खुदपर, देख कर रूप माँ का जमी पर....।।

लड़ना सिखाया है खुदसे,  जितना हरबार ही नहीं,  पड़ता है हारना भी कभी, छोड़कर मैदान तू भागना नहीं.....! अगर लड़ा है तू पूरा,  मेरे लिए तू हार कर है जीता.... अब लिखु क्या मैं माँ के लिए, कर दिया शुक्रिया अदा खुदा का..... करता होगा नाज़ भगवान भी खुदपर, देख कर रूप माँ का जमी पर....
जन्नत है चरणों में उसके, गंगा सी पवित्र है माँ, सपने छोड़कर उसके, सपने जीती है वो हमारे, सिखाया है चलना उंगली पकड़कर,  गिरकर उड़ना सिखाया है, रक जमी पर पैर, छूना आसमान को सिखाया है, क्या लिखूं मैं माँ के लिए,
कर दिया शुक्रिया अदा खुदा का.... करता होगा नाज़ भगवान भी खुदपर, देख कर रूप…

Hindi poems, Poetry Marathi Kavita corona virus

. ओर एक हीरो
सरहाना सब कर रहे हैं, पोलीस ओर डॉक्टरस की.., इस बीच एक हीरो को, भूल रहे हम सब हैं......!!!!
लगाकर बाजी जान की, साथ दे रहे है पुरा, हो चाहे रस्ते पर, या हो अस्पताल मैं, आधे से ज्यादा विषाणू, तो वो भी मार रहे हैं .., हा वो भी एक हीरो है, जिसे हम सब भूल रहे हैं.......!!!!
घर उनको भी है जाना... काल वापिस फिरसे हैं आना... करणे गंदगी साफ वो सारी.. डालके जान अपनी जोखीम मे... बचा रहे हैं जान हमारी, हा वो भी एक हीरो हैं, जिसे हम सब भूल रहे हैं.....!!!!                            - अक्षय कदम




Corona Virus ( Covid19 )

.  मै को'रोना
हैं आत्म सम्मान बहुत मुझमे, खुद तो मैं कभी ना आऊ....               जब तक ना आओगे लेने तुम......    तब तक मै भी ना आऊ......  सोचलो आओगे बाहर तुम, और ले गये घर पर मुझे,  साथ तेरे पूरे घरवलो को,  सब को'रोना पडेगा....!!!! डर लगता हैं मुझे,  हाथ धोने वालो से....  ना हो जाऊ खत्म मैं,  दो साथ हाथ मिलाके....        कर दुंगा हाल इतना बुरा,  होगा जिना मुश्किल पुरा....  घर तेरा अब होगा मेरा,  फेलुंगा साथ हर जगा तेरे, होगा राज हरतरफ मेरा..... ना छोडूंगा किसी को भी, तुम सब को'रोना पडेगा....!!!!                    - अक्षय कदम
May Co'rona
Hai atmasaman bahut mujhmain, Khud to main kabhi na aau, Jab Tak na aawoge lene Tum, Tab Tak main bhi na aau, Sochlo aawoge Bahar run,  Aur le gaye ghr par mujhe, Sath Tere pure Gharwalo ko, Sab Co'rona padega.....!!!!
Dar lagta Hain mujhe, Hath dhone walo see, Na ho jau khatma main, Do sath hath milake, Kar dunga Hal yetna bura, Hoga Jena mushkil Pura, Ghar Tera an hoga Mera, Phelunga sath jaga Tere, Hoga Raj hartarf Mera, Na chhodunga ki…

Shayad

. Shayad शायद 


शायद किताब के आखरी पन्नो को पता था,  प्यार तूमसे हुवा है मुझे.... लडने लगा था खुदसे ही मैं, पसंद ना आयेगां ये वो उसे... जान ने लगा था मैं खुद को ज्यादा, दोस्ती आयने से करने लगा था मैं....
तडप रहे हैं हम पास रहकर इतना, बात करने, मिलने एकबार उसे.... वो तरसता होगा कितना मिलने जमी को, हो रहा है महसुस दर्द आसमा का,  बनकर बारीश मिलने आता होगा, बहाके अश्क सारे याद मे जमी के....
दोस्ती करनी है बालो से तुम्हारी, जो सता रहे है बारबार तुम्हे.... हा दोस्ती करनी है बालो से तुम्हारी, जो सता रहे है बारबार तुम्हे....  जवाब देना है उन हवा वो को,  जो छूकर आकर तुम्हे, बहुत चिडाती है हमे.....


                         - अक्षय कदम