Skip to main content

Posts

. Liptkar tirange Mai jaunga
Ghus kar Tere Ghar main Marunga,  Das das ko ek sath Marunga, Khun ki  aakhri bund Tak ladunga,  War pith par nhi karunga, Goli sene pe khaunga,  Liptkar tirange Mai jaunga, Hokar Shahid gav ko lotunga....
Tab Tak Aakhe bhi nhi mitenge,
Jab Tak na Dekh lu lehrate tirange ko... Tab Tak Jaan ko thamb kar rakhenge,
Yamraj ko bhi rok kar rakhenge,
Sunkar jaygosh ke nare, Sukun se jaan ko chhodunga, Liptkar tirange Mai jaunga, Hokar Shahid gav ko lotunga.....

लिपटकर तिरंगे में जाऊंगा
घूस कर तेरे घर मैं मारूंगा, दस दस को एक साथ मारूंगा, खून की आखरी बूंद तक लड़ूंगा, वार पीठ पर नहीं करूंगा गोली सिने पे ही खाऊंगा,  लिपटकर तिरंगे में जाऊंगा, होकर शहीद गांव को लौटूंगा......
तब तक आंखे भी नहीं मिटेंगी,  जब तक ना देख ले लहराते तिरंगे को.... तब तक जान थांब कर रखेंगे,  यमराज को भी रोक कर रखेंगे, सुनकर जयघोष के नारे,  सुकून से जान को छोड़ूंगा, लिपटकर तिरंगे में जाऊंगा, होकर शहीद गांव को लौटूंगा......
                   - अक्षय कदम


Short Hindi poem on Indian soldier. Hindi poem on Veer Jawan.
Recent posts

Irshad Kamil Poetry Shayari Nazams and Filmy Songs

Irshad Kamil Poetry Shayari Nazams and Songs

Irshad Kamil is an Indian poet and lyricist. He has written books of his Poetry and Nazams. Irshad Kamil poetry is one of the best poetry.
Born On - 5th Sep 1971
Malerkotla from Punjab 
You see, Irshad Kamil songs in Bollywood films - Aashiqui 2 Love Aaj Kal Love Aaj Kal 2 Rockstar Tamasha Raanjhanaa Jab Harry Met Sejal Highway Jab We Met Once Upon In Mumbai Ajab Prem Ki Gajab Kahani And many more films 
Irshad Kamil Poetry and Shayari

Khayalon ka shehar…
Tu jaane tere hone se hi aabaad hai
Hawayein haq mein…
Wohi hai aate jaate jo tera naam le - Irshad Kamil Poetry         Hawayein

Milke bhi, hum na mile,  Tum se na jaane kyun.  Meelon ke, hai faasle,  Tum se na jaane kyun - Irshad Kamil Poetry         AGPK
Mausam Ke Azaad Parindey,
Haathon Mein Hai Uske
Ya Woh Bahaaron Si Hai
Sardi Ki Woh Dhoop Ke Jaisi,  Garmi Ki Shaam Hai
Pehli Puhaaron Si Hai - Irshad Kamil songs

Shayad kabhi na kehe sakoon main tumko
Kahe bina samajh lo tum shayad - Irshad Kamil Poetry        Love Aaj Kal 2

H…

Marathi Kavita blog Marathi Kavita on DJ

. कोणत बी गान वाजुदे आता...
डी जे वाला हाय आज फुल टू जोमात पोरं बी सारी नाचत्यात फुल टू जोरात...
कोणत बी गान वाजुदे आता,
टाकून आलाय थोडी ह्यो आता..... डीजे वाजतोय माग ह्याच्या, बग ह्यो नचतोय कस बी आता......
आलाय ह्यो आता कापड पांढरी घालून, वडत्यात ह्याला आता सारी हाताला धरून, ईकड तिकड बगून ह्यो.....   नाचतोय फक्त हाथ वर करून......
डिजे वाला वाजीवतोय गाणी लय भारी, नागीण डान्स करत्यात पोरं बी सारी, गान वाजत रहुंदे आता....  मामा बी नाचायलाय फुल टू भारी.....

Motivational hindi poem Motivational poem Ummed Poetry

. उम्मीद


हमे कहा कुछ खबर हैं, आगे क्या होगा, जो होगा जैसा भी होगा, कोशिशो से हमारे होगा, हम तो रात के अंधेरो मैं चांद की परछाई धुंडणे नीकले है
कोशिशो से अपनी तकदिर लिखने निकलें हैं..


मुसीबतों से डरना कहा हसकर मिलना है, जीने का क्या जी तो ऐसे भी जी रहे है, हमें तो करोड़ों तारो में से सिर्फ़ एक तारा लाना है, कदम से कदम मिलाकर आसमा के साथ चलना है...

हमने सुना है उम्मीद पर दुनिया कायम हैं,
पत्थर दिल की दुनिया में दिल ढूंढना हैं , हवा को बस मैं नहीं पर मोड़ सकते है, खुशबू थोड़ी सी उसमे घोल सकते है....


जिन्दगी छोटी सी है जी कर बितानी है, उम्मीद हम खुद से ही लगाए रखें हैं, यहां पाप करकर गंगा में धोने की बात करते है, ओर ये जन्नत छोड़कर जन्नत जाने की सोचते है....
                                    - अक्षय कदम

Kerala's Silent Valley Forest, Kerala pregnant elephant

. इंसानियत की तलाश

इतनी भूक तो वो सेह लेती,
पर बात उसके बच्चे की थी,
छोड़ कर वो घर निकली,
ढूंडने खाना इंसान की गली,
भरोसा उसको बहुत ही था,
जो दिया वो खा लिया..........

दर्द कितना हुआ होगा उसे,
नहीं जताया कुछ भी उसने,
ताकत तो इतनी थी की,
चाहे तो पूरा तेहस नेहस करती,
पर वो कुछ कम पढ़ी थी,
इन्सान कुछ ज्यादा ही पढ़े है.....

तलाश में पानी के निकल पड़ी,
खड़ी हो गई पानी के बीच में,
दर्द का कहा वो सोच रही थी,
दिल और दिमाग में बस बच्चे की बात थी.....

हा वो इंसान ही थे उसे बचाने गए थे,
पर अब भरोसा उसे अपनों पर भी नहीं था,
शर्म अब इंसान को कहा है आती,
सर उसने खुद ही पानी में छिपा लिया था....

शायद बच्चे के खातिर वो खड़ी होगी,
हा वो भी तो एक मा ही थी,
दर्द तो पूरा सेह लेती,
पर जान तो बच्चे में ही अटकी थी,

किया है ये किसी इंसान ने ही,
पर बदनाम आज पूरी इंसानियत हुई है.......!!!!

                                     - अक्षय कदम

Father's day special Hindi poem on papa

. पापा का प्यार

दरवाजे पर नज़रे टिकाए रहते थे,
राह उनकी शाम होते ही देखते थे, सोचता हूं में अब ये सब, वो मेरे अजीब से इशारे कैसे समजते थे...।।
बचपन में पीठ पर बैठकर घूमे है, कांधे पर सिर रखकर गोदी में सोये हैं, मगते ही कभी कुछ नहीं दिया, अहमियत वक्त और चीजों की बताई है..।।
प्यार तो करते होंगे वो बहुत, पर आंखो से ही डरा देते है, हमने तो प्यार जताया ही नहीं, और गले लगाया तो सालो हो गए..।।

दुनिया में प्यार पापा का सबसे अलग हैं, पर दूरियां क्यों इतनी बड़ी है पापासे,
वो जताते नहीं और बताते कभी नहीं, प्यार मां सा वो भी करते है...।।
बचपन में प्यार पापा का अच्छा लगता है, फिर वही प्यार फर्ज लगता हैं , नहीं समझ आएगा इस उम्र में ये हमें, शायद बेटे से बाप बनना पड़ेगा हमें...।।
                       -  अक्षय कदम

Manoj Muntashir Songs, poetry, shayri, Biography

Bollywood Film Lyricist Poetry Shayri Writter  Manoj Muntashir ( Manoj Shukla )

Manoj Muntashir biography
Born             26  February 1976                       Gauriganj, Amethi, UP           Age               44 Nationality   Indian Occupation  Lyricist, Poetry Writter

Best of Manoj Muntashir  He is from Gauriganj, Amethi, Utarpradesh. At the start of his carriar, he wrote many reality shows like Kon Banega Corodpati (  KBC ) India's Got Talent ( IGT ) etc.
When Teri Gallia Song was released from a  movie ek villain, he got fame and that song has been composed and sung by Ankit Tiwari.
He has written a book named 'Meri Fitrat Hai Mastana' and this book showing a very good response and this book is available on Amazon.
Click Here to Buy From Amazon
'Meri Fitrat Hai Mastana 2' is also on the way to release or Publish says Manoj sir on YouTube Live Chat.
Manoj sir has written a song in Movie Kesari  titled 'Teri Mitti'. This song is currently favorite of the w…